Select option to list books

कैसे क्रैक करें? उ.प्र. प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक परीक्षा, 2022 (UPTGT)

देश को प्रत्येक मामले में आत्मनिर्भर और समृद्ध बनाने के साथ-साथ विकास की राह पर लगातार आगे बढ़ाने के लिए यह आवश्यक है कि प्रत्येक बच्चे, प्रत्येक नागरिक तक उपयुक्त शिक्षा पहुंचायी जाए। शिक्षा एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें निरन्तर आप अपना विकास करते हो और अपनी योग्यता, प्रतिभा एवं ज्ञान को किसी को देकर स्वयं भी संतुष्टि प्राप्त करते हो। युवाओं में शिक्षा के क्षेत्र में कॅरियर बनाने की अभिरुचि कालान्तर से रही है। शिक्षा सदैव से ही एक सम्मानित क्षेत्र रहा है। स्कूल में शिक्षक के तौर पर भविष्य बनाने की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए उ.प्र. प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक परीक्षा (UPTGT) एक महत्वपूर्ण परीक्षा है। इस परीक्षा में सफलता से उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में कक्षा 9-10 के शिक्षक बनने की राह बनती है।

सफलता प्राप्त करने हेतु सटीक रणनीति

किसी भी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए पाठ्यक्रम का अध्ययन आवश्यक होता है। यदि आप योजना के साथ तैयारी करते हैं तो आपकी तैयारी अन्य अभ्यर्थियों से बेहतर होगी। इस परीक्षा में गति और समय-सीमा का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है। पढ़ाई में निरन्तरता अवश्य बनाए रखें। प्रत्येक विषय के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करें। आप अधिक-से-अधिक प्रैक्टिस सेट हल करें। इससे आपको लाभ यह होगा कि आपके सामने से प्रत्येक प्रकार के प्रश्न गुजरेंगे, जिससे परीक्षा भवन में प्रश्नों को हल करते समय कोई परेशानी नहीं होगी। जो भी छात्र/छात्राएं इस परीक्षा में बैठ रहे हैं, वह यह बात अच्छी तरह समझ लें कि बिना कड़ी मेहनत और समर्पण के इस परीक्षा में सफल नहीं हो सकते हैं।

सफलता हेतु निम्न बिन्दुओं का ध्यान रखें :

1. परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम समझें : आपको सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात यह ध्यान रखनी है कि परीक्षा का पैटर्न और पाठ्यक्रम समझें और इसके अनुसार ही अपने अध्ययन की योजना बनाएं।

2. अपने मजबूत और कमजोर बिन्दुओं को जानें : सभी अभ्यर्थियों में कुछ कमजोर और मजबूत बिन्दु होते हैं। इसलिए पाठ्यक्रम के सम्पूर्ण विश्लेषण के पश्चात्, आप जिन विषयों को अच्छी तरह से जानते हैं और जो विषय आपके लिए अनजान हैं, के बारे में जानिए, जिनमें आपको वास्तव में प्रयास करने की आवश्यकता है। अपने कमजोर और मजबूत क्षेत्रों को नोट करें और उस पर कार्य करना प्रारम्भ करें तथा अपने मजबूत क्षेत्रों की सूची बनाएं।

3. सकारात्मक सोच : परीक्षा की तैयारी और परीक्षा के दौरान सदैव सकारात्मक सोच रखें। तैयारी के दौरान अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें, लगातार न पढ़ें व बीच-बीच में ब्रेक लेकर थोड़ी देर आराम करें।

4. समय प्रबन्धन : अभ्यर्थी तैयारी के दौरान ही गति बनाकर रखें। समय प्रबन्धन और गति हेतु सबसे अच्छा तरीका है कि पहले बिना समय देखे प्रश्नों को हल करें, फिर अभ्यास होने के पश्चात् समय-सीमा के अन्दर हल करें। प्रारम्भ में कठिनाई प्रतीत हो सकती है, लेकिन धीरे-धीरे नियन्त्रण स्थापित हो जाएगा। यदि आप किसी प्रश्न को 30 सेकण्ड से 1 मिनट में हल करने में असमर्थ हैं, तो उस प्रश्न को छोड़ दें और आगे बढ़ें। एक बार जब आप शेष प्रश्नों को पूरा कर लेंगे तो उस प्रश्न पर वापस आ सकते हैं। अगर आपकी गति कम है या आप किसी एक प्रश्न पर ही रुके रह जाते हैं, तो आप जिन प्रश्नों का सही जबाव जानते हैं, उनका उत्तर देने से चूक सकते हैं।

5. नियमित अभ्यास करें : इस परीक्षा में सफलता का मूलमंत्र नियमित अभ्यास होता है। पांच से छह घण्टे का नियमित अभ्यास इस परीक्षा हेतु आवश्यक है।

6. मॉक टेस्ट दें : मॉक टेस्ट देना परीक्षा के दृष्टिकोण से बेहद उपयोगी होता है। इससे प्रश्नों को हल करने की गति तो बढ़ती ही है और आप अपने कमजोर पहलुओं को पहचान कर उसे बेहतर करने की ओर ध्यान दे सकते हैं।

7. शांत चित्त रहकर अध्ययन करें : शांत चित्त रहें और अपने अध्ययन पर ध्यान केन्द्रित रखें। अध्ययन करते समय अत्यधिक आवेश में न आएं। आपका मन शांत एवं तनावमुक्त होना चाहिए। अपने सम्पूर्ण परीक्षा कार्यक्रम के दौरान आशावादी रहें। कुछ गहरे श्वास लेना आपके लिए सहायक होगा।

● लिखित परीक्षा
प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक पद के चयन हेतु अभ्यर्थियों के लिए विषय पर आधारित सामान्य योग्यता की एक लिखित परीक्षा होगी, जिसमें 500 अंकों का एक प्रश्न-पत्र होगा। प्रश्नपत्र में कुल 125 प्रश्न होंगे, प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का होगा। सभी प्रश्न अनिवार्य होंगे।

● समयावधि
प्रश्न-पत्र को हल करने की समयावधि दो घण्टे की होगी।

● प्रश्न का स्वरूप
सभी प्रश्न बहुविकल्पीय (MCQ : Multiple choice question) होंगे। प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए चार विकल्प दिए रहेंगे, जिसमें केवल एक सबसे उपयुक्त विकल्प का चयन अभ्यर्थियों को करना होगा। सही उत्तर के गोले को उत्तरपत्रक में काली स्याही की बाल पेन से काला करना होगा।

● चयन हेतु मेरिट
लिखित परीक्षा के आधार पर अभ्यर्थियों द्वारा प्राप्त अंकों के आधार पर प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक के चयन हेतु उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड नियमावली, 1998 के नियम 12(8) के अनुसार विज्ञापित रिक्तियों की संख्या से अधिक (किन्तु 25 प्रतिशत से अनधिक) की समेकित पैनल लिस्ट मेरिट क्रमानुसार तैयार की जाएगी।

उत्तर प्रदेश टी.जी.टी. परीक्षा के लिए उपयोगी पुस्तकें एवं प्रैक्टिस सेट

उपयोगी पुस्तकें प्रैक्टिस सेट
A492 उ.प्र. टी.जी.टी. वाणिज्य 1728 उ.प्र. टी.जी.टी. हिन्दी
490 उ.प्र. टी.जी.टी. विज्ञान, (भौतिक एवं रसायन विज्ञान) 1729 उ.प्र. टी.जी.टी. ENGLISH
510 उ.प्र. टी.जी.टी. कृषि 1730 उ.प्र. टी.जी.टी. संस्कृत
522 उ.प्र. टी.जी.टी. गृह विज्ञान 1076 उ.प्र. टी.जी.टी. सामाजिक विज्ञान
474 उ.प्र. टी.जी.टी. जीव विज्ञान (जन्तु एवं वनस्पति विज्ञान) 1732 उ.प्र. टी.जी.टी. गृह विज्ञान
444 उ.प्र. टी.जी.टी. हिन्दी 1733 उ.प्र. टी.जी.टी. कला
527 उ.प्र. टी.जी.टी. संस्कृत 1734 उ.प्र. टी.जी.टी. विज्ञान
466 UP TGT ENGLISH 1738 उ.प्र. टी.जी.टी. शारीरिक शिक्षा
1083 उ.प्र. टी.जी.टी. सामाजिक विज्ञान 1739 उ.प्र. टी.जी.टी. गणित
445 उ.प्र. टी.जी.टी. गणित 1740 उ.प्र. टी.जी.टी. जीव विज्ञान
455 उ.प्र. टी.जी.टी. कला
A106 उ.प्र. टी.जी.टी. शारीरिक शिक्षा
A487 उ.प्र. टी.जी.टी. संगीत

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

 
 
 

The product has been added to your cart.

Continue shopping View Cart